घर में खुशियां आने से पहले गम की चीत्कार

संवादसूत्र,औरास(उन्नाव):यमुनाएक्सप्रेस-वेपरहादसेकेबादआगलगनेसेकारमेंपांचलोगोंकेजिंदाजलनेकीघटनामेंऔरासकेमिर्जापुरअजिगांवनिवासीसंदीपशर्मापुत्रराजकुमारशर्माकीभीमौतहोगई।विडंबनादेखिए,इसीमाहसंदीपपिताबननेवालेथे।डॉक्टरोंनेदिसंबरमेंबच्चेकेजन्मकीतारीखदीथी।घरमेंबड़ीखुशीदस्तकदेनेकोतैयारथी,मगरउससेपहलेसड़कहादसेमेंसंदीपकीमौतपरगमकीचीत्कारगूंजउठी।मौतकीखबरघरपहुंचतेहीकोहराममचगया।संदीपकरीबदोसालसेलखनऊकेदुबग्गामेंरहरहाथा।स्वजनकेअनुसारवहकारसवारलोगोंकेसाथदिल्लीजारहाथा।

आगराकेखंदौलीक्षेत्रमेंयमुनाएक्सप्रेस-वेपरमंगलवारसुबहकरीबपांचबजेकंटेनरचालककेगलतदिशामेंकंटेनरमोड़नेसेलखनऊसेदिल्लीजारहीएककारउसमेंजाघुसी।ईधनटैंकफटगयाऔरकारमेंआगलगगई।सवारसंदीपसहितपांचलोगोंकीकारमेंहीजलकरमौतहोगई।इसकीसूचनाखंदौलीथानाप्रभारीनेगाड़ीनंबरकेआधारपरऔरासथानाप्रभारीराजबहादुरकोदी।इसकेबादसंदीपकेघरसूचनादीगई।घरपरमौजूदचाचाश्रवणकुमारनेबतायाकिसंदीपपत्नीसपना,माताकांतीवपिताराजकुमारशर्माकेसाथलखनऊमेंदोसालसेरहरहाथा।दोसालपहलेहीउसकीसपनासेशादीहुईथी।शादीकेदूसरेदिनएककारखरीदीथी।उसीकारसेकिसीदोस्तकेपरिवारकेसाथदिल्लीजारहाथाऔरहादसेकाशिकारहोगया।संदीपदोभाइयोंमेंबड़ाथा।उसकीदोबहनोंशालिनी,संध्या,छोटेभाईहर्षऔरमांकांतीसहितस्वजनकारो-रोकरबुराहालरहा।पतिकीअचानकमौतकीखबरमिलनेसेसपनाबदहवासहोगई।स्वजनकेअनुसारवहगर्भवतीहैऔरदिसंबरकेअंततकबच्चेकाजन्महोनेकीतारीखडॉक्टरनेदीथी।इसखबरसेसंदीपभीकाफीखुशथा।उसेक्यापताथाकिअपनेहोनेवालेबच्चेकोदेखनेसेपहलेदुनियाछोड़देगा।