धर्म

इस नक्षत्र में करें श्राद्ध, दूर हो सकते हैं

ज्योतिषशास्त्रमें27नक्षत्रबताएगएहैं।इननक्षत्रोंकेआधारपरहीहिंदूपंचांग केमहीनोंकेनामनिर्धारितकिएगएहैं।श्राद्धपक्षमेंभीइननक

जानिए किस तिथि पर श्राद्ध करने से क्या फल मिल

भाद्रपदमासकीपूर्णिमासेलेकरआश्विनमासकीअमावस्यातककासमयपितरोंकेतर्पण,श्राद्धवपिंडदानकेलिएउत्तममानागयाहै।इन16दिनोंकोहीश्राद्

श्राद्ध में क्या करें-क्या नहीं, जानें 20 जरु

धर्मग्रंथोंकेअनुसार,भाद्रपदमासकीपूर्णिमासेआश्विनमासकीअमावस्यातकश्राद्धपक्षहोताहै।इसबारश्राद्धपक्ष13सितंबर,शुक्रवारसेशुरू

कुंडली में है कालसर्प दोष तो श्राद्ध पक्ष में

कालसर्पदोषजिसव्यक्तिकीकुंडलीमेंहोताहै,उसेअपनेजीवनमेंकईपरेशानियोंकासामनाकरनापड़ताहै।कुछसाधारणउपायकरकालसर्पदोषकेबुरेप्रभाव

श्राद्ध में ब्राह्मणों को भोजन क्यों करवाया ज

हिंदूधर्ममेंश्राद्धपक्षकोबहुतहीपवित्रसमयमानागयाहै।श्राद्धपक्षसेकईपरंपराएंभीजुड़ीहैं।वर्तमानसमयमेंजबबच्चेश्राद्धपक्षकीपरंप

इस दिन किया जाता है मृत विवाहित महिलाओं का श्

आश्विनमाहकेकृष्णपक्षयानीश्राद्धपक्षकीनवमीतिथिपरपितरोंकीप्रसन्नताकेलिएनवमीकाश्राद्धकियाजाताहै।ज्योतिषाचार्यपं.प्रफुल्लभट्

सबसे पहले किसने किया था श्राद्ध, कैसे शुरू हु

इनदिनोंश्राद्धपक्षचलरहाहै।श्राद्धकेबारेमेंअनेकधर्मग्रंथोंमेंकईबातेंबताईगईहैं।महाभारतकेअनुशासनपर्वमेंभीभीष्मपितामहनेयुधिष

श्राद्ध से मिलती है लंबी उम्र, संतान और पैसा,

श्राद्धपितरोंकोप्रसन्नकरनेकाएकमाध्यमहोताहै।धर्मशास्त्रोंकेअनुसार,श्राद्धस्वयंकीभूमियाघरपरहीकरनाश्रेष्ठहोताहै,किसीदूसरेके

जानें कैसे निकलते हैं शरीर से प्राण, क्या-क्य

जबपरिवारमेंकिसीकीमृत्युहोजातीहैतोब्राह्मणद्वारागरुड़पुराणकापाठकरवानेकीपरंपराहै।ज्योतिषाचार्यपं.मनीषशर्माकेअनुसारइसग्रंथम

पितृ पक्ष: बेटा न हो तो कौन कर सकता है श्राद

किसीव्यक्तिकीमृत्युकेबादकिएजानेवालेसंस्कारउसकापुत्रहीकरताहै।किसीव्यक्तिकीमृत्युकेबादकिएजानेवालेसंस्कारउसकापुत्रहीकरताहै।

पिंडदान के लिए प्रसिद्ध है ये तीर्थ, यहां आज

16दिनोंतकचलनेवालेश्राद्धपक्षमेंलोगअपनेघरोंमेंतोपूजाआदिकरतेहीहैं,साथहीपवित्रतीर्थोंपरभीअपनेपितरोंकीआत्माकीशांतिकेलिएतर्पण

एक साल में कितनी नवरात्रि होती हैं, गुप्त और

इसबार29सितंबरसेशारदीयनवरात्रिकाआरंभहोरहाहै।येहिंदूधर्मकेप्रमुखत्योहारोंमेंसेएकहै।इन9दिनोंमेंगरबानृत्यकरऔरउपवासआदिकरदेवीक

पितृ दोष से हैं परेशान तो 28 सितंबर को करें इ

श्राद्धपक्षकीअमावस्याकोसर्वपितृमोक्षअमावस्याकहतेहैं।मान्यताहैकिइसदिनसभीज्ञात-अज्ञातपितरोंकाश्राद्धकरनेसेउन्हेंमोक्षकीप्र

8 वास्तु टिप्स: स्टडी रूम बनाते समय रखें इनका

वर्तमानसमयमेंबच्चोंकेलिएअलगसेस्टडीरूमबनाएजातेहैंताकिबच्चेवहांआरामसेपढ़ाईकरसकें।स्टडीरूमअगरवास्तुकेअनुसारहोतोइसकापॉजिटिवइ

हल्दी के 5 आसान उपाय: इन्हें करने से हो सकता

ज्योतिषशास्त्रमेंकईऐसीचीजोंकाउपयोगकियाजाताहै,जोहमारेघरकेकिचनमेंहीआसानीसेमिलजातीहैजैसे-हल्दी।हल्दीकाउपयोगअनेकउपायोंमेंकिय

एक राक्षस के नाम पर है इस प्रसिद्ध तीर्थ का न

बिहारकेगयाकोसबसेबड़ापितृतीर्थमानाजाताहै।श्राद्धपक्षकेदौरानयहांलाखोंलोगअपनेपितरोंकीआत्माकीशांतिकेलिएपिंडदानकरनेआतेहैं।गया

नवरात्रि 29 सितंबर से 7 अक्टूबर: जानें किस दि

इसबारअश्विनमासकीनवरात्रि29सितंबरसे7अक्टूबरतकमनाईजाएगी।इसेशारदीयनवरात्रिभीकहतेहैं।इसनवरात्रिमेंरोजदेवीकेविभिन्नस्वरूपोंकी

बचना चाहते हैं शनिदेव के प्रकोप से तो भूलकर भ

हिंदूधर्ममेंहरवारएकदेवताकीपूजाकेलिएविशेषरूपसेनियतकियागयाहै।जैसे-सोमवारकोभगवानशिवकीपूजाकरनाअच्छामानाजाताहैऔरमंगलवारकोहनुम