पूजन

कपड़ों से नहीं व्यवहार से होती है व्यक्ति की प

संवादसहयोगी,मोगा:लालालालचंदधर्मशालामानवजागृतिसेवासंस्थानकीओरसेजारीसंगीतमयीश्रीमद्भागवतकथाकेदौरानपंडितसत्यनारायण,पंडितपवन

किसी भी पूजा से पहले संकल्प क्यों लिया जाता ह

हिंदूधर्ममेंपूजादैनिकजीवनकाअभिन्नअंगहै।पूजासेजुड़ेकईनियमभीबनाएगएहैं।विशेषअवसरोंपरजबकिसीपंडितकोपूजाकेलिएबुलायाजाताहैतोवहप

किस देवता की कितनी परिक्रमा करनी चाहिए? सभी क

हिंदूपरिवारोंमेंरोजदेवी-देवताओंकापूजनकरनेकीपरंपराहै।देखाजाएतोपूजा-पाठहिंदूधर्मकाअभिन्नहिस्साहै।हमारेधर्मग्रंथोंमेंदेवताओ

महादेव की ही पूजा लिंग रूप में क्यों की जाती

सावन(श्रावण)मेंशिवभक्तिकाविशेषमहत्वहै।मान्यताहैकिइसमहीनेमेंभगवानशिवकाविधि-विधानसेपूजनआदिकरनेसेवेप्रसन्नहोकरभक्तकीहरमनोका

नवमी पर होती है मां सिद्धिदात्री की उपासना, य

नईदिल्ली:नवरात्रिकेदौरान9दिनोंतकमांदुर्गाकेअलग-अलगस्वरूपोंकीपूजाकीजातीहै.ऐसेमेंनवरात्रिकाआखिरीदिनमातासिद्धिदात्रीकोसमर्प

नवरात्रि की अष्टमी तिथि को होगी मां महागौरी क

नईदिल्ली:नवरात्रकेआठवेंदिनमांदुर्गाकेआठवेंस्वरूपमांमहागौरीकीपूजाहोतीहै.शास्त्रोंमेंअष्टमीपूजनकोविशेषमहत्वदियागयाहै,शास्त

शाम के समय घर में नहीं होना चाहिए अंधेरा, इसस

हरकोईयहीचाहताहैकिधनकीदेवीलक्ष्मीकाआशीर्वादउसपरबनारहे।कमहीलोगयेजानतेहैंकिमांलक्ष्मीकोप्रसन्नकरनेकेलिएपूजनस्थानपरउचितरोशनी